बुधवार, मार्च 09, 2011

मैं और आगे बढ़ते जाती हूँ




दिन-प्रतिदिन स्वयं में ही ध्वस्त हो
विच्छेद हो कण-कण में बिखर जाती हूँ
आहत मन,थका तन समेटे दुःसाध्यता से
तिमिर के आवरण में स्वयं को
स्वयम ही लपेटे जाती हूँ

निर्झर बहते हैं फिर अश्रु  नैनों से
कटु विषाद हृदय में है गहराता
अवसाद ,अवनमन और अस्पष्टता में
डूबते चिंतित मानस के संग-संग
मैं भी डूबे जाती हूँ

किन्तु जाने कहाँ से उदित होती है 
धधकते हृदय के भीतर से ही  कहीं
तप्त, समाघाती, जीवटता से भरी प्रदीप्ति
 थाम जिसे मैं हर कटु  परिस्थिति से
विजयी हो उभर  आती हूँ

समेट स्वयं को चारों और से
मैं फिर पथ पर आगे बढ़ जाती हूँ
नित जुड़ती हूँ नित बिखरती हूँ
क्षण क्षण के  हर संघर्ष में
      मैं और आगे बढ़ते जाती हूँ      

जोया**** 




                        
 

17 टिप्‍पणियां:

यशवन्त माथुर ने कहा…

समेट स्वयं को चारों और से
मैं फिर पथ पर आगे बढ़ जाती हूँ

बहुत बढ़िया लिखती हैं आप.

Manpreet Kaur ने कहा…

very very nice post my dear friend i like your post...ty

visit my blog plz
Download latest music
Lyrics mantra

कौशलेन्द्र ने कहा…

तुम गिर-गिर कर उठती हो /
टूट-टूट कर जुड़ती हो /
फिर आगे बढ़ जाती हो /
मेरी बच्ची ! सच में /
तुम ही तो असली जीवन जीती हो ......

कौशलेन्द्र ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
मनोज कुमार ने कहा…

बहुत सुंदर भावाभिव्यक्ति।

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

यही जिजीविषा बनी रहनी चाहिए ...सुन्दर अभिव्यक्ति ..

हृदय शब्द ठीक कर लें ..

shekhar suman ने कहा…

वाह...बेहतरीन...
गज़ब के भाव दिए हैं रचना में...

इमरान अंसारी ने कहा…

जोया जी,

बहुत खूबसूरत पोस्ट......आगे बढना....और बढते ही जाना जीवन है|

Patali-The-Village ने कहा…

बहुत सुंदर भावाभिव्यक्ति। धन्यवाद|

Patali-The-Village ने कहा…

बहुत सुंदर भावाभिव्यक्ति। धन्यवाद|

mridula pradhan ने कहा…

bahut sundar....dil ke bilkul kareeb......

sagebob ने कहा…

समेट स्वयं को चारों और से
मैं फिर पथ पर आगे बढ़ जाती हूँ
नित जुड़ती हूँ नित बिखरती हूँ
क्षण क्षण के हर संघर्ष में
मैं और आगे बढ़ते जाती हूँ

बहुत खूब.
सलाम.

यशवन्त माथुर ने कहा…

आप को सपरिवार होली की हार्दिक शुभ कामनाएं.

सादर

abhi ने कहा…

यही तो करना चाहिए सब को...आगे बढ़ना

zindagi-uniquewoman.blogspot.com ने कहा…

hi joya ji....
pahli bar aapke blog par aana hua....aapke blog ka presentation mujhe bahut pasand aaya...likhi gai ye kavita bhi....Archana

बेनामी ने कहा…

backlink solutions white hat seo backlink service backlink solutions

बेनामी ने कहा…

aloha venusjun25.blogspot.com admin discovered your site via search engine but it was hard to find and I see you could have more visitors because there are not so many comments yet. I have discovered website which offer to dramatically increase traffic to your site http://xrumerservice.org they claim they managed to get close to 1000 visitors/day using their services you could also get lot more targeted traffic from search engines as you have now. I used their services and got significantly more visitors to my blog. Hope this helps :) They offer best backlinks service Take care. Jason